Nafrat Shayari

Shayari on nafrat, बेस्ट नफरत शायरी हिंदी में

Advertisement

Nafrat Shayari

Shayari on Nafrat, बेस्ट नफरत शायरी हिंदी में

Lekar Ke Mera Naam Woh Mujhe Kosta Hai,
Nafrat Hi Sahi Par Woh Mujhe Sochta Toh Hai.

लेकर के मेरा नाम वो मुझे कोसता है,
नफरत ही सही पर वो मुझे सोचता तो है।

Nafrat shayari in hindi

Tujhe Pyar Bhi Teri Aukat Se Jyaada Kiya Tha,
Ab Baat Nafrat Ki Hai To Nafrat Hi Sahi.

तुझे प्यार भी तेरी औकात से ज्यादा किया था,
अब बात नफरत की है तो नफरत ही सही।

Sad shayari

बेस्ट नफरत शायरी हिंदी में

Mohabbat Karne Se Fursat Nahin Mili Dosto…
Varna Ham Karke Batate Nafrat Kisko Kahte Hain.

मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली दोस्तो…
वरना हम करके बताते नफरत किसको कहते हैं।

Dua Shayari

Qatl Toh Lazim Hai Iss Bewafa Shahar Mein,
Jise Dekho Dil Mein Nafrat Liye Firta Hai.

Advertisement

क़त्ल तो लाजिम है इस बेवफा शहर में,
जिसे देखो दिल में नफरत लिये फिरता है।




Intezaar Shayari

Hate Shayari in Hindi

Tum Nafrat Ka Dharna Kayamat Tak Jari Rakho,
Main Pyar Ka Isteefa Zindagi Bhar Nahin Doonga.

तुम नफरत का धरना कयामत तक जारी रखो,
मैं प्यार का इस्तीफा जिंदगी भर नहीं दूंगा।

Nafrat Sad Shayari

Woh Nafratein Paale Rahe Hum Pyar Nibhate Rahe,
Lo Yeh Zindgi Bhi Kat Gayi Khaali Haath Si.

वो नफरतें पाले रहे हम प्यार निभाते रहे,
लो ये जिंदगी भी कट गयी खाली हाथ सी।

Sad Shayari

Nafrat Shayari Quotes Images

Mujh Se Nafrat Ki Ajab Raah Nikali Usne,
Hasta Basta Dil Kar Diya Khali Usne,
Mere Ghar Ki Riwayat Se Woh Khoob Tha Waqif,
Judai Maang Li Ban Ke Sawali Usne.

मुझसे नफरत की अजब राह निकली उसने,
हँसता बसता दिल कर दिया खाली उसने,
मेरे घर की रिवायत से वोह खूब था वाकिफ,
जुदाई माँग ली बन के सवाली उसने।

Love Shayari

Hamen Barbaad Karna Hai To Hamse Pyar Karo,
Nafarat Karoge To Khud Barbaad Ho Jaoge.

हमें बरबाद करना है तो हमसे प्यार करो,
नफरत करोगे तो खुद बरबाद हो जाओगे।




Judai Shayari

Nafrat Shayari For Love

Usne Nafrat Se Jo Dekha Hai To Yaad Aaya,
Kitne Rishte Uski Khatir Yun Hi Tod Aaya,
Kitne Dhundhle Hain Ye Chehre Jinhe Apnaya Hai,
Kitni Ujali Thi Wo Aankhein Jinhe Chhod Aaya Hu.

उसने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया,
कितने रिश्ते उसकी ख़ातिर यूँ ही तोड़ आया हूँ,
कितने धुंधले हैं ये चेहरे जिन्हें अपनाया है,
कितनी उजली थी वो आँखें जिन्हें छोड़ आया हूँ।

Romantic Shayari

Jab Nafrat Karte Karte Thak Jao,
Tab Ek Mauka Pyar Ko Bhi Dena.

जब नफरत करते करते थक जाओ,
तब एक मौका प्यार को भी देना।

Read more:- Judai Shayari

 

Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *